Skip to main content

Contact Us

Email - singhtajbir250@gmail.com

👉FACEBOOK

👉INSTAGRAM

👉 LINKED IN

👉 YOUTUBE

Comments

Popular posts from this blog

मात्र 17 साल की उम्र में अपने Startup से United Nations द्वारा सम्मानित

आज समूचा विश्व पर्यावरण संरक्षण के प्रति अत्यंत गंभीर हो चूकाहै। मानव प्रजाति इसी प्रयास में है की कैसे अपने परिवेश को सुरक्षित बनाये। क्या बड़े, क्या छोटे, सभी सम्मिलित रूप से इस ओर प्रयत्नशील हैं।  दिल्ली के समीप गुरुग्राम शहर के अनुभव वाधवा ने भी अपने नन्हें कन्धों पर पर्यावरण को बचाने की बागडोर ले ली है। मात्र 17 साल की उम्र में ही आज ये Data Analyst, कंप्यूटर प्रोग्रामर और एक सफल उद्यमी बन गए हैं। अपनी कंपनी Tyrelessly के माध्यम से इन्होंने पर्यावरण संरक्षण की लिए महत्वपूर्ण कदम उठाया है। Tyrelessly में पुराने टायरों को Recycle कर उन्हें बहुपयोगी बनाया जाता है।  अनुभव बचपन से ही बड़े मेधावी रहे हैं । वे हमेशा टेक्नोलॉजी का उपयोग सही दिशा में देखना चाहते थे। अपनी इसी सोच से साल 2013 में मात्र 13 साल की ही उम्र में इन्होंने अपनी Educational कंपनी TechApto बना ली थी। इसके बाद भी ये लगातार नित-नई खोजों में रूचि लेते रहे। एक बार स्कूल से घर लौटते समय इन्होंने सड़क के किनारे पुराने टायरों को जलते देख इन्हें Recycle की बात सोची और उसी समय इनके दिमाग में Tyrelessly ने जन्म लिया। अन

Inspiring Quotes

Build your confidence, give up your fear of being wrong Failure is not the final destination, this is part of the success. Focus on positivity   Giving all you can Focussed vision I can do it You can do everything Whatever it takes Communication helpful sometimes Never ever quit Positive attitude Get started Make a new start Get inspired

9 बजे, 9 दीपक, 9 कहानियां / जिंदगी में रोशनी की कीमत समझाती 9 मोटिवेशनल कहानियां, लॉकडाउन में बच्चों को जरूर सुनाएं

देशभर में कोरोना वायरस के संक्रमण चलते 21 दिन कालॉकडाउन किया गया है। संक्रमण के तेजी से बढ़ते मामलों को लेकर लोगों में दशहत और निराशा माहौल है। ऐसे में डर और निराशा को खत्म करने के लिए प्रधानमंत्री ने भी रविवार को देश में लोगों को आशा का दिया जलाकर कोरोना वॉरियर्स का हौलसा बढ़ाने के साथ ही लोगों से भी एकजुट होने की अपील की है। कोरोनाaके कारण फैले अंधकार और निराशा के बीच जरूर पढ़े रोशनी से जुड़ी ये नौ प्रेरणादायक कहानियां… 1.अंधा और लालटेन एक गांव में एक अंधा व्यक्ति रहता था। वह रात में जब भी बाहर जाता, एक जली हुई लालटेन हमेशा अपने साथ रखता। एक रात वह अपने दोस्त के घर से भोजन कर वापस अपने घर लौट रहा था। इस बार भी उसके साथ हमेशा की तरह एक जली हुई लालटेन थी। वापस लौटते समय रास्ते में कुछ शरारती लड़कों ने उसके हाथ में लालटेन देखी तो उस पर हंसने लगे और उसका मजाक उड़ाते हुए कहा- अरे! देखो- देखो अंधा लालटेन लेकर जा रहा है। अंधे को लालटेन का क्या काम? उनकी बात सुनकर अंधा विनम्रता से बोला- ‘सही कहते हो भैया, मैं तो अंधा हूं, देख नहीं सकता। मेरी दुनिया में तो हमेशा अंधेरा ही रहा है। म